एक शाम शहीदों के नाम

‘एक शाम शहीदों के नाम’ कार्यक्रम में उमड़ा जनसैलाब”,

मोहित ग्रोवर के धारदार भाषण ने जमकर तालियां बटोरी डा. कुमार विश्वास की कविताओं का लोगों ने खूब लुत्फ उठाया
बारिश के बावजूद कार्यक्रम में रिकार्डतोड़ भीड़ जुटी

13-august-ek-shaam-shaeedon-ke-naam-mohit-grover-and-public-suppor

एक दर्जन से अधिक शहीदों के परिजनों को किया सम्मानित मुख्य अतिथि असम राईफल्स के पूर्व निदेशक ले. जे. करण सिंह यादव जबकि विशिष्ट अतिथि कर्नल आर सी चढ्ढा थे

गुरुग्राम। देश के महान सपूतों, क्रांतिकारियों व शहीदों की स्मृति में युवा समाजसेवी मोहित मदनलाल ग्रोवर द्वारा पटौदी रोड स्थित पुलिस चौकी के निकट ग्रोवर फार्म हाऊस परिसर में एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें एक दर्जन से अधिक शहीदों के परिवारों को सम्मानित किया गया। बारिश के बावजूद मोहित ग्रोवर के आह्वान पर कार्यक्रम में हजारों की संख्या में शहरवासी उमड़ पड़े। लोगों का हुजूम देख वहां मौजूद गणमान्य अतिथि अचंभित दिखे और मोहित मदनलाल ग्रोवर उत्साहित। मोहित मदनलाल ग्रोवर के धारदार भाषण ने लोगों की खूब तालियां बटोरी जबकि प्रख्यात कवि एवं वक्ता डा. कुमार विश्वास की ओजस्वी कविताओं ने इस कार्यक्रम में शमां बांध दी। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में असम राईफल्स के पूर्व निदेशक लेफ्टिनेंट जेनरल करण सिंह यादव जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में 1971 युद्ध और कारगिल युद्ध में देश की सेवा कर चुके ग्लोबगल कल्चरल फाउंडेशन के अध्यक्ष कर्नल आर सी चढ्ढा उपस्थित थे। कवि दिनेश रघुवंशी ने मंच संचालन किया।

कार्यक्रम के दौरान हजारों लोग भारत मां की जय के नारे लगाते रहे। इस अवसर पर हजारों लोगों को संबोधित करते हुए युवा समाजसेवी मोहित मदनलाल ग्रोवर ने एक तरफ देश की आजादी की लड़ाई में स्वतंत्रता सेनानियों की अमर गाथा याद दिलाई तो दूसरी तरफ देश के दुश्मनों के साथ हुई सभी लड़ाइयों में सर्वोच्च बलिदान देने वाले अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

श्री ग्रोवर ने कहा कि 15 अगस्त हमारे देश के लिए सर्वश्रेष्ठ दिन है। स्वतंत्रता सेनानियों के त्याग की वजह से हम इस दिन आजाद हुए। आजादी प्राप्त करने के लिए न जाने कितने स्वतंत्रता सेनानियों, युवा क्रांतिकारियों व देशवासियों को पीड़ा सहनी पड़ी थी और उन्हें बलिदान देना पड़ा। उन्होंने कहा कि आज का दिन उन सभी शहीदों को याद करने और उनके बताए रास्तों पर चलने की कसमें खाने का है। उनके इस कर्ज को तो हम कभी नहीं चुका पाएंगे, लेकिन उनके द्वारा दिलाई गई आजादी को हम अक्षुण्ण बनाये रखना हमारा कर्तव्य है। उनका कहना था कि हमें आजादी की अहमियत समझनी चाहिए और समाज व देश की प्रगति के लिए मिल कर काम करना चाहिए।

मोहित मदनलाल ग्रोवर ने शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि जो सपना देश के महान क्रांतिकारियों व सपूतों ने देखा था, उसे पूरा करने का संकल्प आज हम सभी को सामूहिक रुप से लेना चाहिए। आजादी की लड़ाई हो या फिर देश की सुरक्षा के लिए लड़े गए युद्ध अपना जीवन न्यौछावर करने वाले शहीदों के सपनों को पूरा करने का दायित्व हम सभी का है।

श्री ग्रोवर ने याद दिलाया कि अमर सेनानियों ने स्वतंत्र भारत का ही नहीं, अपितु साक्षर , सशक्त और समृद्ध भारत का सपना देखा था। युवा समाजसेवी ने कार्यक्रम में बड़ी संख्या में आये युवाओं का आह्वान किया कि जब बात देश की हो तो हमें दल, जाति व वर्ग से ऊपर उठकर काम करना चाहिए। उन्होंने बल देते हुए कहा कि देश की प्रगति के लिए हमें कंधे से कंधा मिलाकर चलना होगा। गुरुग्राम के युवा हमारी रीढ़ हैं। उनके बल पर हम किसी भी रचनात्मक लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं।
मोहित मदनलाल ग्रोवर ने अपने संबोधन में महिलाओं की सुरक्षा, शिक्षा, स्वास्थ्य और शहर की आधारभूत संरचनाओं को सुदृढ करने जैसे कई ज्वलंत मुद्दों पर खुल कर बात की और लोगों से उनका समर्थन करने की अपील की।

इस अवसर पर उपस्थित शहीदों के परिजन श्रुति देवी पत्नी भरत सिंह यादव, कर्नल कंवर सिंह, लता यादव, श्रुति देवी पत्नी करतार सिंह, धनवंती देवी पत्नी सूबेदार पर्थ सिंह, रुपवती देवी पत्नी एन के जगरुप, कमला देवी पत्नी श्रीराम सिंह को मोहित मदनलाल ग्रोवर ने सम्मानित किया।

कार्यक्रम में प्रदेश के पूर्व मंत्री चौ. धर्मवीर गाबा, पूर्व मंत्री राव धर्मपाल , मियांवाली बिरादरी के गिर्राज धींगड़ा, कवि मदन साहनी, केंद्रीय श्रीसनातन धर्मसभा के प्रधान सुरेंद्र खुल्लर, महासचिव देवराज आहूजा, मीडिया प्रभारी बालकृष्ण खत्री, केंद्रीय आर्य समाज गुडग़ांव के कन्हैयालाल आर्य, केशव मित्र मंडल के अध्यक्ष गुलशन मेहता, पंचनद सभा गुरुग्राम के रामकिशन गांधी, मुख सागर रामलीला के अध्यक्ष गंगाधर खत्री, पार्षद खजान सिंह, राजेश सूटा, वेद वर्मा, पंजाबी बिरादरी के सतीश आहूजा, अपना एंक्लेव के ओमप्रकाश भुटानी, सैक्टर 7 आरडब्ल्यूए के भूपेश गुप्ता, नरेश चावला, धर्मवीर नैन, विनोद शर्मा, दिनेश गांधी, प्यारेलाल वर्मा, प्रताप सिंह, मोहम्मदपुर के सरपंच हरिकिशन, काशीराम चुटानी सहित दर्जनों गणमान्य अतिथि शामिल हुए।

कवि कुमार विश्वास व दिनेश रघुवंशी की कविताओं पर झूमे शहरवासी

स्वतंत्रता दिवस से पहले आयोजित कवि सम्मेलन में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए हटाने पर प्रख्यात कवि डा. कुमार विश्वास व दिनेश रघुवंशी द्वारा प्रस्तुत की गई वीर रस और हास्य रस की कविताओं पर पूरा परिसर तालियों से गूंज उठा। आयोजन में देशभक्ति से ओतप्रोत रचनाओं के केंद्र में कश्मीर और सौहार्द की बात रही। डा. कुमार विश्वास व दिनेश रघुवंशी ने मोहित मदनलाल ग्रोवर के प्रयासों व शहरवासियों की भी जमकर तारीफ की।

मोहित मदनलाल ग्रोवर को मिला जनसमूह का स्नेह

मोहित मदनलाल ग्रोवर द्वारा आयोजित एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम में हजारों की संख्या में शहरवासी शामिल हुए। बारिश के बावजूद उमड़े इस जनसमूह से प्रतीत होता है कि शहरवासियों ने मोहित मदनलाल ग्रोवर को कितना प्रेम व स्नेह दिया है। उनके द्वारा 21 जुलाई को आयोजित मधुर मिलन समारोह व संगीत कार्यक्रम में भी बड़ी संख्या में शहरवासी पहुंचे थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.