उस महान पिता के पसीने की एक बूंद का भी ऋण पूरी जिंदगी नही चुका सकता – मोहित ग्रोवर

उस महान पिता के पसीने की एक बूंद का भी ऋण पूरी जिंदगी नही चुका सकता - मोहित ग्रोवरगुरुग्राम। शहर के प्रसिद्ध दानवीर व कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष स्व. मदनलाल ग्रोवर के निधन पर शुक्रवार को पटौदी रोड पुलिस चौकी के निकट ग्रोवर फार्म हाऊस में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया, जिसमें पटौदी हरी मंदिर आश्रम के अधिष्ठाता महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव महाराज, राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा, भाजपा जिलाध्यक्ष गार्गी कक्कड़, विधायक सत्यप्रकाश जरावता, नगर निगम की मेयर मधु आजाद, पूर्व मंत्री चौधरी धर्मवीर गाबा, कैप्टन अजय सिंह यादव, सुखबीर कटारिया, भाजपा के वरिष्ठ नेता सूरज पाल अम्मू, अपना भारत मोर्चा के संस्थापक डा. अशोक तंवर, नगर निगम पार्षद सीमा पाहूजा, अभिनेता राज चौहान, केंद्रीय श्रीसनातन धर्मसभा के प्रधान सुरेंद्र खुल्लर, राजेश सूटा, गिर्राज ढींगरा, सुभाष ढींगरा, सुमेर तंवर सहित शहर की धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि बड़ी संख्या में शामिल हुए और उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

उस महान पिता के पसीने की एक बूंद का भी ऋण पूरी जिंदगी नही चुका सकता - मोहित ग्रोवरप्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने भी शोक संदेश भेजा। इसके अलावा 100 से अधिक संस्थाओं ने भी शोक संदेश भेजा। महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव महाराज ने कहा कि जीवन-मृत्यु एक चक्र है। जिसका जन्म हुआ है, उसको एक दिन इस संसार से जाना ही होता है। महाराज जी ने स्व. मदनलाल ग्रोवर द्वारा किए गए समाजसेवा के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि स्व. मदनलाल ग्रोवर ने अपने जीवन में जो समाजसेवा के कार्य किए हैं, उन्हें यह समाज हमेशा याद रखेगा। उनके द्वारा किए गए कार्य प्रेरणादायक साबित होंगे। हर किसी को समाजसेवा के क्षेत्र में आगे आकर जरुरतमंदों की सेवा करनी चाहिए। महान व्यक्ति के पीसने की एक बूंद का भी ऋण पूरा परिवार पूरी जिंदगी नहीं चुका सकता। राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि स्व. मदनलाल ग्रोवर जी का समाजसेवा के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान रहा है। उनके मृदुभाषी व्यक्तित्व का हर कोई कायल था। उनके द्वारा किए गए कार्यों को हमेशा याद रखा जाएगा।

डा. अशोक तंवर ने कहा कि स्व. मदनलाल ग्रोवर जी जैसा नेकदिल और जिंदादिल व्यक्ति सदी में कोई कोई ही पैदा होता है। हमें उनके द्वारा किए गए कार्यों से पे्ररणा लेकर समाजसेवा के कार्य करने चाहिए। समाज को एकजुट रखना चाहिए। मोहित ग्रोवर ने कहा कि उनके पिता ने बचपन से ही समाजसेवा करने का पाठ पढाया था। वे हमेशा से अपने पिता द्वारा किए गए कार्यों को आगे बढ़ाने का प्रयास करेंगे। समाज को एकजुट रखेंगे। हर वर्ग का साथ देंगे। किसी भी जरुरतमंद व्यक्ति को खाली हाथ लौटना नहीं पड़ेगा।

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।

Open chat
1
Hi, How Can I Help You.?